Sunday, 21 May 2017

हम भटकते रहे थे अनजान राहों में

हम भटकते रहे थे अनजान राहों में;
रात दिन काट रहे थे यूँ ही बस आहों में;
अब तम्मना हुई है फिर से जीने की हमें;
कुछ तो बात है सनम तेरी इस निगाहों में~~

रौशनी करता हूँ अँधेरा मिटाने के लिए

रौशनी करता हूँ अँधेरा मिटाने के लिए;
शराब पीता हूँ मैं तुझको भुलाने के लिए;
क्यों न बन सकी तुम मेरी ज़िंदगी;
आज भी रोता हूँ सोच कर गुज़रे ज़माने के लिए~~

क्यों मरते हो यारो, बेवफा सनम के लिए

क्यों मरते हो यारो, बेवफा सनम के लिए;
दो गज़ ज़मीन भी नहीं मिलेगी तेरे दफ़न के लिए;
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए;
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी तुम्हारे कफ़न के लिए~~

पर ये सच है कि मोहब्बत मेरी कमज़ोर नही

माना कि किस्मत पे मेरा कोई ज़ोर नही;
पर ये सच है कि मोहब्बत मेरी कमज़ोर नही;
उस के दिल मे, उसकी यादो मे कोई और है लेकिन;
मेरी हर साँस में उसके सिवा कोई और नही~~

पलको के किनारे हमने भिगोए ही नहीं

पलको के किनारे हमने भिगोए ही नहीं;
वो सोचते है हम रोए ही नहीं;
वो पूछते है ख्वाब में किसे देखते हो;
हम है कि एक उम्र से सोए ही नहीं~~~

ज़रूरी नहीं कि जिसके हम हों वो भी हमारा हो

ज़रूरी नहीं कि जीने का कोई सहारा हो;
ज़रूरी नहीं कि जिसके हम हों वो भी हमारा हो;
कुछ कश्तियाँ डूब जाया करती हैं;
ज़रूरी नहीं कि हर कश्ती के नसीब में किनारा हो~~

तो भुला के तुझको संभलना मुझे भी आता है

भुला के मुझको अगर तुम भी हो सलामत;
तो भुला के तुझको संभलना मुझे भी आता है;
नहीं है मेरी फितरत में ये आदत वरना;
तेरी तरह बदलना मुझे भी आता है~~

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है;
दिल ना चाह कर भी, खामोश रह जाता है;
कोई सब कुछ कहकर, प्यार जताता है;
कोई कुछ ना कहकर भी, सब बोल जाता है~~

मेरी साँसों में बिखर जाओ तो अच्छा होगा

मेरी साँसों में बिखर जाओ तो अच्छा होगा;
बन के रूह मेरे जिस्म में उतर जाओ तो अच्छा होगा;
किसी रात तेरी गोद में सिर रख के सो जाऊं;
फिर उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा होगा~~

हर ज़ख़्म किसी ठोकर की मेहरबानी है

हर ज़ख़्म किसी ठोकर की मेहरबानी है;
मेरी ज़िंदगी की बस यही एक कहानी है;
मिटा देते सनम के हर दर्द को सीने से;
पर ये दर्द ही तो उसकी आखिरी निशानी है~~

क्योंकि तुझे खोने को दिल नहीं करता

तुझे पाने की इस लिए ज़िद्द नहीं करते;
क्योंकि तुझे खोने को दिल नहीं करता;
तू मिलता है तो इसलिए नहीं देखते तुझको;
क्योंकि फिर इस हसीं चेहरे से नज़रें हटाने को दिल नहीं करता~~